Franchise Business

Franchise business क्या है और यह कैसे काम करता है?

 

नमस्कार!

 

MoneySarthi के पेज पर आपका बहुत-बहुत स्वागत व अभिनन्दन है ।

 

हमारे द्वारा दी गयी जानकारी को इतना प्यार देने के लिया आपके तहे दिल से आभार है। आप सभी ने हमारे हर लेख को प्रेमपूर्वक से पढ़ा है जिसके लिया हम आपका आभार व्यक्त करते हैं।

आज हम आपके साथ Franchise business से जुड़ी हर वह जानकारी साझा करेंगे जिससे आपको सभी तथ्यों को समझने में आसानी होगी और यदि आप कोई नया व्यवसाय शुरू करने की सोच हैं तो आपको बहुत मदद मिलेगी। 

 

आप यह तो जानते ही होंगे कि एक नया व्यवसाय शुरू करना सबसे कठिन निर्णयों में से एक है। लेकिन आप जब चाहें तो यह निर्णय कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको एक अच्छा Idea खोजने की जरूरत है, फिर मार्केटिंग, ब्रांडिंग, बिक्री कैसे की जाए, काम पर रखने के लिए लोग आदि के लिए एक योजना बनाएं।

यदि आपने इतना सब कर लिया तो आपको उत्पाद रणनीति पर काम करने की जरूरत है और अंत में, अपनी योजनाओं को निष्पादित करने के लिए पूंजी जुटाने की जरूरत है।

 

 

यह सब पड़ने के बाद आपको लग रहा होगा कि बहुत ज्यादा काम है.. है ना? इसलिए हम आपके लिए एक बीच का रास्ता निकाल कर लाये हैं। जी हां, Franchise Business यहां आपकी मदद कर सकते हैं।

इस लेख में, मैं Franchise business से जुडी हर वह जानकारी साँझा करुंगा जिससे आपको समझने में आसानी होगी की फ्रेंचाइज़ी क्या है, यह कैसे काम करता है, फ़्रैंचाइज़ी शुरू करने के लिए आपको किन बातों को समझने की जरुरत है।

  मोटे तौर पर बताऊं तो इस लेख में फ़्रैंचाइज़ी बिज़नेस से जुडी हर जानकारी को कवर किया गया है । 
 

Franchise business

 

आइए देखें कि आप फ्रेंचाइजी व्यवसाय के अवसरों से कैसे लाभ उठा सकते हैं और आपको यह भी समझने में आसानी होगी कि यह अपने दम पर व्यवसाय शुरू करने की तुलना में कितना लाभदायक है।

 

क्या है Franchise Business –

 
Franchise  एक ऐसी व्यवसाय प्रणाली जिसमें कोई व्यक्ति किसी निजी व्यवसाय समूह के लोगो, मॉडल और एक बहुत बड़ी कंपनी के नाम से व्यवसाय करता है।

आमतौर पर मालिकों या फ़्रैंचाइज़र द्वारा इसे एक अलग स्थान पर चलाने के लिए एक बहुराष्ट्रीय कंपनी या बहुराष्ट्रीय कंपनी को Franchise कहा जाता है।

व्यापार सरल शब्दों में, Franchise business एक मौजूदा सफल व्यवसाय का विस्तार है। इसे ठीक उसी तरह निष्पादित किया जाता है जिसमें मूल व्यवसाय काम करता है।

बहुराष्ट्रीय कंपनी के इन निजी ऑपरेटरों को Franchise कहा जाता है। ये अलग-अलग स्थानों पर ब्रांड और विक्रेता के बीच संबंध संविदात्मक है। हमारे आस-पास फ्रेंचाइजी व्यवसाय के बहुत से सामान्य उदाहरण है। उदाहरण के लिए, Mcdonald, Subway, Cafe cofee day, Starbucks, Dominos और  Pizza hut आदि।

 

Franchise business कैसे काम करता है –

 
फ़्रेंचाइज़िंग में एक व्यवसाय को साझेदारी में किसी सफलतापूर्वक चल रहे व्यवसाय के कुछ या सभी पहलुओं का उपयोग करके चलाना होता है। फ़्रेंचाइज़िंग बिजनेस मॉडल किसी भी व्यवसाय को तेजी से विस्तार करने और बाजार हिस्सेदारी हासिल करने में मदद कर सकता है।  

पहले के समय में, व्यवसाय किसी विशेष बाजार में किसी उत्पाद को बेचने का अधिकार प्रदान करते थे जिसे वितरण सौदे या डील के रूप में जाना जाता है।

इसके विपरीत, जब कोई व्यक्ति फ़्रेंचाइज़िंग के अंतर्गत बिज़नेस करता है तो इसमें उसे अपने व्यवसाय को संचालित करने के लिए कंपनी द्वारा संचालित लाइसेंस का उपयोग करना पड़ता है

और एक सफल व्यवसाय स्थापित करने के लिए मूल कंपनी की विशेषज्ञता का उपयोग पड़ता है। Dominos Pizza और Mcdonald रेस्तरां दुनिया के कुछ सबसे प्रसिद्ध फ्रेंचाइजी व्यवसाय हैं। 

 

फ्रैंचाइज़र – फ्रेंचाइजी संबंध

 
फ़्रैंचाइज़र मूल व्यवसाय है जैसे डोमिनोस पिज़्ज़ा (Domino’s Pizza)।  यह फ़्रैंचाइज़र किसी व्यक्ति को फ्रेंचाइजी प्रदान करेगा। जिसमें सहमत शुल्क के बदले में उन्हीं उत्पादों या सेवाओं, ट्रेडमार्क, तकनीकों आदि का उपयोग करके संचालित करने की अनुमति दी जाती है।

एक फ्रेंचाइज़र के पास आमतौर पर कई फ्रैंचाइज़ी होती हैं और दूसरी तरफ़ एक फ्रेंचाइजी के पास केवल एक फ्रेंचाइज़र हो सकता है। फ़्रैंचाइज़र और फ्रैंचाइजी के बीच संबंध फ़्रैंचाइज़ी समझौते द्वारा शासित होते हैं। 

 

 

 

क्या है फ्रैंचाइज़ी समझौता

 
फ्रैंचाइज़ी समझौता फ़्रैंचाइज़र और फ्रैंचाइजी के बीच एक लिखित कानूनी दस्तावेज है जिसके अंतर्गत दोनों को व्यवसाय करना होता है। फ़्रेंचाइज़ समझौता मौलिक दस्तावेज है जिस पर फ़्रेंचाइज़र व फ्रैंचाइजी के संबंध आधारित व जिम्मेदारियां निर्धारित होती हैं। फ़्रैंचाइज़र और फ्रैंचाइजी दोनों को समझौते पर हस्ताक्षर करना अनिवार्य होता है। 

 

कैसे स्थापित करें फ्रेंचाइजी व्यवसाय 

 

फ्रेंचाइज़ी के अधिकार खरीदने के लिए एक प्रारंभिक शुल्क तय होता है, जिसका भुगतान करना अनिवार्य होता है। इसके अंतर्गत आपको  व्यवसाय, विधियों, उपकरणों, मार्केटिंग की तकनीकों आदि को खरीदने का अधिकार मिलेगा।

जब आप किसी कंपनी के अधिकार खरीद लेते हैं, तो आपको ब्रांड की ट्रेडमार्क वाली चीजों तक भी पहुंच प्राप्त हो जाती है। उदाहरण के लिए ब्रांड का नाम और कंपनी का लोगो आदि।

 

इन मालिकाना अधिकारों के अलावा आपको, फ्रैंचाइज़ी को फ़्रैंचाइज़र की सेवाओं की बिक्री के लिए एक विशिष्ट क्षेत्र भी प्रदान किया जा सकता है जहां आप अपना व्यवसाय स्थापित कर सकता है।

इतना ही नहीं आपको  समय अवधि के लिए अनुबंध बरकरार रखने वाला अनुबंध पत्र भी दिया जाएगा। आम तौर पर किसी भी फ्रेंचाइज़ी समझौते की अवधि लगभग दस वर्ष तक हो सकती है । इसके अलावा समय अवधि के नवीनीकरण का अधिकार भी प्राप्त होता है।

जैसे ही आपका व्यवसाय शुरू हो जाता है तो आपको अनुबंध के अनुसार तय किया गया रॉयल्टी भुगतान करना होता है जो वार्षिक आधार पर हो सकता है या यह उसके समझौते पर भी निर्भर करता है।

 

किस आधार पर होता है रॉयल्टी भुगतान 

 
रॉयल्टी भुगतान की राशि की गणना उस फ्रेंचाइजी रिटेल आउटलेट द्वारा की गई कुल बिक्री के आधार पर की जाती है। इस प्रकार, फ़्रैंचाइज़र और फ्रेंचाइजी के बीच एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

 

चुनें कम लागत वाले फ्रेंचाइजी व्यवसाय

 
यदि आप भारत के किसी भी कोने में फ्रेंचाइजी खोलने की सोच रहे हैं तो आपके दिमाग में यह सवाल तो अवश्य भारत में कम लागत वाली फ्रेंचाइजी व्यवसाय के अवसर क्या है ? चलिए आपको बताते हैं कि आपको कम लागत वाले फ्रेंचाइजी व्यवसाय के अवसरों को क्यों चुनना चाहिए।

 

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारा भारत दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला दूसरा देश है और दुनिया का दूसरा सबसे अधिक बढ़ता उपभोक्ता बाजार है। यह एक मुख्य कारण है कि 

दुनिया भर की बहुराष्ट्रीय कंपनियां यहां निवेश करने आतुर रहती हैं। भारत को फ्रेंचाइजी उद्योग की दृष्टि से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बहुत ही आकर्षक अंतरराष्ट्रीय बाजार के रूप में स्थान दिया गया है।

 

 

दुनिया के बड़े बड़े ब्रांड अपनी शाखाओं और व्यापार के अवसरों के विकास के लिए भारतीय बाजार  की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। इस लिहाज से, अगर आप फ्रेंचाइजी व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो सस्ती लागत वाले व्यवसाय मॉडल में से चुनने की स्वतंत्रता के साथ आपको मार्केट में उतरना होगा। इस सन्दर्भ में हम आपको लिए कुछ वेबसाइट्स की सूची बनाई है। जानने के लिए आगे पढ़ें:

 

भारत में अनेक वेबसाइट्स हैं जो आपको बेहद कम लागत में फ्रेंचाइजी व्यवसाय शुरू करने के लिए लिंक प्रदान करती हैं। ये वेबसाइट्स आपको आपकी आवश्यकता के अनुसार अवसर चुनने के लिए अनेको श्रेणियाँ उपलब्ध करवाती है।

जब आप इन श्रेणियों में जाएंगे तो आपको इच्छा अनुसार निवेश योजना के अनुरूप एक मूल्य सीमा उपलब्ध करवाई जाएगी। इतना ही नहीं आपको सर्वोत्तम संभव स्थानों से सुविधा प्रदान करने के लिए भी विकल्प दिए जाएंगे। 

ये है वेबसाइट्स की लिस्ट:

 

  1. Franchiseindia.com
  2.  Franchisemart.in
  3. Franchiseasia.com
  4. Smallb.sidbi.in
  5. Startingfranchise.in  
  6. Fai.co.in  

 

Note: हमारी वेबसाइट ऊपर दिए गए किसी भी वेबसाइट को स्पॉन्सर नहीं करती है। यह सारी जानकारी शोध के बाद ही आपसे साझा की जा रही है। 

 

फ्रेंचाइजी बनाम खुद का व्यवसाय

 
जैसा कि मैंने इस लेख़ की शुरआत में एक बात साँझा की थी कि मैं आपको बताउगा यदि आप व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं तो आपको खुद का व्यवसाय चुनने की जगह फ्रेंचाइजी के बारे में क्यों सोचना चाहिए। चलिए आपको बताता हूं। 

 

सबसे आम प्रश्नों में से एक जो एक निवेश के मन में आता है वह यह है कि फ्रेंचाइजी व्यवसाय आपके व्यवसाय को शुरू करने से बेहतर कैसे है।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हाल ही में हुए एक अध्ययन के अनुसार, भारत में केवल 1% नए व्यवसायों के जीवित रहने की संभावना है।

इसका मुख्य कारण यह है कि अपना खुद का व्यवसाय खोलने पर इसे जड़ से शुरू करते समय शुरुआती वर्ष कठिन होते हैं।

इस दौरान ज्यादातर व्यवसाय दम तोड़ देते हैं। 

इसके विपरीत, फ्रेंचाइजी व्यवसाय के स्वामी को बड़े व्यवसाय के कई लाभों का आनंद लेते हुए एक स्वतंत्र व्यवसाय संचालित करने का अवसर प्रदान करता है।

 

 

एक Franchise business की सबसे बड़ी सकारात्मक विशेषता यह है कि आपको  पहले से ही स्थापित व्यवसाय में प्रवेश करना है। आपके विकास के जोखिम और लाभ से संबंधित जोखिम काफी हद तक कम हो जाते हैं।

यह विशेष रूप से बहुत मदद करता है यदि आपके पास पिछले व्यावसायिक अनुभव नहीं हैं।

यदि आपके पास अपने व्यवसाय के विभिन्न कार्यों को संभालने के लिए एक अच्छी टीम नहीं है तो आपका बिज़नेस फेल होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

वहीं दूसरी तरफ फ्रेंचाइजी व्यवसाय में आपको प्रशिक्षित लोग मिलेंगे। 

 

इसलिए जब Franchise business का चयन करते समय अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने की स्वतंत्रता या सुरक्षा की भावना से चुनने की बात आती है, तो व्यक्ति को उसी के अनुसार निर्णय लेना चाहिए।

तो यह थी Franchise business से जुड़ी जानकारी। 

आशा करता हूँ आपको पसंद आयी होगी और आपको इससे मदद मिलेगी।  यदि आपको इस लेख में दी गयी जानकारी अच्छी लगी तो शेयर करें और हमारे फेसबुक पेज moneysarthi को लाइक करना न भूलें ताकि आप इस तरह की जानकारी का लाभ प्राप्त कर सकें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *