Share market RISK

Stock Market Major Points – कुछ प्वाइंट ध्यान में रखिए। आप खुद से बेहतर Stock चुन पाएंगे।

नमस्कार

Money sarthi पर आपका बहुत बहुत स्वागत,

पिछली सारी फाइनेंस के आर्टिकल्स को आपलोगों ने बहुत सारा प्यार दिया है, इसके लिए आपका दिल से आभार !!

हम आपसे इंटरनेशनल अफेयर्स, फाइनेंस, बिजनेस, और शेयर मार्केट की महत्वपूर्ण जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से करते रहते हैं।

आज हम आपके लिए शेयर मार्केट की महत्वपूर्ण जानकारी, Stock Market Major Points आपके साथ साझा करेंगे।

दोस्तों

धारणा होती है, शेयर मार्केट टेढ़ी खीर है। और एक जुआ की तरह है।

लेकिन मैं हमेशा से जुए वाली अवधारणा का खंडन करता रहा हूं।

क्योंकि पूरे Share market में 80% तक प्रायिकता ये है कि आपको लाभ प्राप्त होगा।

सिर्फ 20% हानि के चांस को देखते हुए हम ये नहीं कह सकते कि Share market जुआ है।

Share market जुआ तब होता जब 50% लाभ और 50% हानि की probability रखता। लेकिन ऐसा नहीं है।

जिस तरह सड़क पर चलने के लिए आपको कुछ यातायात के नियम फॉलो करने पड़ते हैं।

ठीक उसी तरह यदि आप शेयर मार्केट के नियम को समझ गए तो फिर आपके accident होने का चांस सिर्फ कुछ प्रतिशत के रूप में बदल जाएगा।

इसीलिए शेयर मार्केट को पहले पूरी तरह समझने का प्रयास करें।

दूसरी अवधारणा ये भी है, कि शेयर मार्केट में काफी प्रोफेशनल व्यक्ति, जिनके पास शेयर मार्केट के ज्ञान का अथाह भंडार है, सिर्फ वही सफल हो सकता है।

नहीं दोस्तों !

अगर ऐसा होता तो शेयर मार्केट से पैसे कमाने वाले इतने अधिक संख्या में हमलोगों के साथ मौजूद नहीं होते।

बहुत सारे लोग हैं जो थोड़ा सा नॉलेज से भी काफी अच्छा शेयर चुनते हैं और उससे बहुत पैसा कमाते हैं।

आखिर क्यों हमलोग स्टॉक खुद से नहीं चुन सकते?

जब भी हम कोई शेयर मार्केट में स्टॉक चुनते हैं, तो हमलोग एक्सपर्ट को ढूंढने लगते हैं।

एक्सपर्ट की advice लेना ग़लत नहीं है।

मैं खुद एक निवेशक हूं।

मेरा अनुभव है, कि मैंने जितने भी स्टॉक एक्सपर्ट की सलाह से लिए हैं। छोटे समय के लिए हमें उसमे हानि हुई है।

आज मैं आपको ऐसे 5 Stock Market Major Points से रूबरू करवाएंगे जिसके माध्यम से आप किसी भी कम्पनी पर रिसर्च करके ये तय कर पाएंगे की उसका स्टॉक आपके लिए सही रहेगा या नहीं।

आपको experience और बहुत सारा knowledge और experties की कोई आवश्यकता नहीं रहेगी।

यदि आप ऐसा सोचते हैं कि स्टॉक चुनना काफी time taking है, और इसका process काफी difficult है तो ऐसा भी नहीं है।

बस आपके पास सही टूल्स हो, बाकी ये प्रोसेस काफी मजेदार है।

 

इसे भी पढ़ें:-Future Of Mutual fund ,क्या होगा Mutual fund का भविष्य?

 

बस 5 Stock Market Major Points मैं आपको आगे समझाने वाला हूं, जिससे आपके लिए वो कम्पनी निवेश के लायक होगी या नहीं!
 

Stock Market Major Points

 

1) Growth In Profit :-

 
यदि आप स्टॉक चुन रहे हों तो स्टॉक को फिल्टर करने के लिए ये ध्यान रखें कि कम्पनी growth in profit यानि profitable हो।

•कम्पनी लगातार पीछे 4 से अधिक क्वार्टर में प्रॉफिट में रहे।

• कम्पनी की प्रॉफिट यदि लगातार consistent रूप से बढ़ती जा रही है, तो ये संकेत है कि कम्पनी बहुत अच्छा कर रही है।

तो ऐसे आप जब स्टॉक व्यू करें तो ये जरूर देख लें। अगर कम्पनी Profit में है, तो बिल्कुल वो निवेश के लायक है

लेकिन ठीक ठाक और अच्छा रिटर्न प्राप्त करने के लिए हमेशा आपको वो कम्पनी चुनना चाहिए , जो लगातार बढ़ते हुए प्रॉफिट में है।

बाकी कुछ और criteria हम आपको बताएंगे,

 

बने रहिए हमारे साथ

 

2) Debt 0 हो या बहुत ही कम हो :–

 
अच्छी कम्पनियां और रिस्क फ्री स्टॉक चुनने के लिए जरूरी होता है कि आप ऐसे कम्पनी का ही स्टॉक चुनें, जो debt free हो।

कम्पनी के लेनदार अगर ज्यादा होंगे तो हो सकता है, भविष्य में वो कम्पनी ही डूब जाए।

तो ऐसे रिस्क हम नहीं ले सकते, आपको उस स्टॉक के बारे में गूगल करके debt देख लेना चाहिए।

Debt अगर कम रहेगा तो कम्पनी बिजनेस में टिकी रहेगी।

आप कहेंगे बड़ी बड़ी कम्पनियों पर बहुत सारा कर्ज होता है। क्या उसका स्टॉक नहीं लें ?

नहीं ऐसा नहीं है।

ये कम्पनी पर निर्भर करता है जो निफ्टी की कम्पनियां हैं हम उनको अपवाद में रखेंगे।

अगर उन पर बहुत सारा debt भी है, तो वो देश के 50 टॉप कम्पनियां है।

तो यहां से multibagger रिटर्न भी तो नहीं मिलता।

जितना बड़ी हाथी उतनी कम स्पीड !

तो ऐसे में जो व्यक्ति शेयर मार्केट से पैसे कमाने आए हैं, उनके लिए NIFTY में पैसे लगाना ज्यादा अच्छा नहीं होगा।

वो निवेश के लिए बेहतर है।

बैंक से अच्छा आप NIFTY में डाल दो।

 

इसे भी पढ़ें:- https://moneysarthi.com/stock-market-bubble/
 

3) ROE ज्यादा हो :-

 
ROE यानि Return On Equity percentage जिस कम्पनी की अच्छी रहे।  आप उन्हें फिल्टर कर सकते हैं।

ROE का मतलब हुआ कि उसने अब तक आपने निवेशकों को कितने प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

यदि ROE 20% से अधिक है तो ठीक ठाक है
अगर 25% से अधिक है तो बेहतरीन है

इसलिए स्टॉक चुनने से पहले इस प्वाइंट पर भी गौर जरूर करें।
 

4) Ethical Management :-

 
यदि कम्पनी पर कोर्ट केस, पुलिस केस का चक्कर हो।

तो ऐसे स्टॉक से मेरी सलाह है, बिल्कुल दूर रहें।

इसके लिए एक साधारण से तरीका है, कि आप Google करके उसके ऊपर कोई पुलिस केस, फ्रॉड केस है तो पता लगा सकते हैं।
 

5) Competitive Advantage :-

 
आप कम्पनी में कुछ खास देखने का प्रयास करें।

अगर कोई कम्पनी साबुन बना रही है, डिटर्जेंट ही बना रही है। तो उसमे खास क्या है, ये देखें।

अगर हो सके तो उसका प्रोडक्ट भी यूज करें।

और क्वालिटी चेक करें साथ ही उसकी कीमत की भी तुलना अन्य से करें।

और किस तरह कम्पनी अपने प्रोडक्ट को लोगों तक पहुंचा रही है, ये भी देखें।

जिससे आपको अंदाजा लग जाएगा कि भविष्य में संभावना है कि ये कम्पनी तेज नहीं तो कम से कम इतना grow तो करेगी जितना आप expect करते हो।

 

इसे भी पढ़ें:-What is RD Account ?

 

6) P/E Ratio :-

 
Profit to earning ratio एक बड़ी चीज है। जो आपको देखनी ही देखनी है।

होता क्या है कि कभी कभी किसी कम्पनी के स्टॉक को बहुत सारे लोग खरीद लेते हैं, इससे उनकी प्रॉफिट बहुत ज्यादा बंट जाती है।

माना जाता है कि P/E ratio हमेशा 25 से कम ही रहे तो अच्छा है

बाकी जितना कम p/e ratio रहेगा उतना अच्छी बात है।

 

 

आज के लिए इतना ही हम आपसे फिर से कई ज्ञानवर्धक लेख के साथ जुड़ते रहेंगे। Stock Market Major Points लेख कैसा लगा ये आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताइएगा।

लेख के नियमित अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज money sarthi को लाइक करें।

आर्टिकल के तुरंत और तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप या टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ना बिल्कुल न भूलें।

Money sarthi पर अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद !!

||जय हिन्द||

इस लेख का कॉपीराइट अधिकार money sarthi के पास सुरक्षित है। इस लेख या लेख का कोई भी भाग कॉपी करना या डिजिटल मीडिया में या किसी भी अन्य रूप में प्रकाशित करने पर कानूनी दंड के भागीदार होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *