Share market RISK

Share market RISK – आने से पहले ये सारी गलतियां समझ लीजिए, जो आपको भारी नुकसान करवा सकती है।

नमस्कार

स्वागत करता हूं आपका एक बार फिर money sarthi पर,

हम लगातार आपसे बिजनेस , फाइनेंस, स्टॉक मार्केट , शेयर मार्केट की अच्छी अच्छी जानकारी लेकर आपसे जुड़ते रहते हैं।

आज फिर आपके लिए कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जो शेयर मार्केट में आने से पहले आपको पता होना चाहिए, वो लेकर उपस्थित हूं।
 

Share market RISK in Hindi

 
दोस्तों शेयर मार्केट दुनिया का आठवां अजूबा है।

उन्होंने कितनों को करोड़पति , अरबपति बनाया और कितनो को भिखारी भी बना के छोड़ा है।

यही वजह है कि शेयर मार्केट को लोग जुआ समझते हैं। इसमें पैसे न लगाने की सलाह देते होंगे। लेकिन ऐसा नहीं है।

 

एक उदाहरण से हम इसे समझते हैं।

यदि आप सड़क के बाईं ओर चलेंगे , यातायात के सारे नियम को फॉलो करेंगे तो आपके साथ किसी भी प्रकार की दुर्घटना हो सकती है क्या??

आप सोच रहे होंगे नहीं !!

लेकिन दुर्घटना तब भी हो सकती है, इसे हम दूसरे scenario से समझेंगे।

मोटा मोटी इस बात को ऐसे समझिए कि Share market संभावना पर ज्यादा कार्य करता है।

यदि आप 10 Stock खरीदेंगे और 10 Stock के आगे बढ़ने की संभावना यदि 10% है तो फिर आपको भारी नुक़सान हो जाएगा।

लेकिन यदि संभावना 80% है तो ज्यादातर Stock आपका अच्छा परफॉर्म कर रहा होगा और आपके पास अच्छे खासे रिटर्न आ रहे होंगे।

ठीक उसी तरह जब सड़क पर चलते हुए यदि आप यातायात के नियमों का पालन करते हैं, तो ऐसे में आपके साथ दुर्घटना होने की संभावना न्यूनतम हो जाती है।

हालांकि दुर्घटना तब भी हो सकती है।

लेकिन आप यदि सड़क पर आरे टेढ़े जैसे तैसे चलेंगे तो आपके साथ दुर्घटना होने की संभावना अधिकतम हो जाती है। हालांकि कुछ संभावना तब भी रहतीं है कि आपका accident न हो।

आज तक जितने भी बड़े बड़े वीर इस Share market की दुनिया में आए। सबने संभावना पर कार्य किया और अच्छे खासे अरबपति खरबपति बन बैठे हैं।

तो जिस तरह यातायात के कुछ नियम होते हैं जो हमें दुर्घटना से बचा लेते हैं। इसी तरह Share market के भी कई ऐसे नियम हैं जो आपके पैसे डूबने से बचाएंगे।

Share market में क्या करेंगे कि हमारा पैसा अच्छा रिटर्न के साथ मुझे मिले, इसकी चर्चा तो हम बाद में किसी दूसरे आर्टिकल्स में हम आपके साथ करेंगे।

आज के इस आर्टिकल में हम ये समझेंगे कि –
 

Share market में क्या न करें

 

इससे पहले हम जीवन के कुछ साधारण सिद्धांत पर नजर डाल लेते हैं ताकि आगे जो मैं बताऊं उसमे आपको clearity रहे।

 

# सुनो सबकी पर करो मन की :-

 
दोस्तों आप किसी भी क्षेत्र में काम करो, हमारे आस पास सारे के सारे एक्सपर्ट ही बैठे होते हैं।

ये एक्सपर्ट वो होते हैं जो आपकी society में , आपकी दोस्तों में पाए जाते हैं। वो आपको तरह तरह की सलाह देंगे।

लेकिन हमेशा अपने मन और अपने तय किए गए सिद्धांतों पर कार्य करना चाहिए। बशर्ते सिद्धांत एक दम सटीक हो।

आज के जमाने में भी सोसाइटी की ऐसी सोच है कि अगर पता चल जाए कि कोई Share market में Trading करता है, तो लोग उसे हीन नजरिए से देखने लगते हैं।

 

इसे भी पढ़ें:-Khud ka Mutual Fund Kaise Banaye ..बहुत सारा पैसा बचा सकते हैं आप !

 

# Society के orthodox pattern में यदि रुचि न हो तो भी मत घबराएं :-

 
समाज में अभी भी बहुत धारणाएं ऐसे बनी हुई है जो निराधार है।

यदि समाज के पैटर्न को देखिए तो वो कहेंगे पहले पढ़ो लिखो, फिर जॉब लो , फिर जिंदगी को सैटल कर लो।

जबकि बहुत से लोगों पर ऐसा थोपा जाता है।

पढ़ाई लिखाई और ज्ञान ये बुरी चीज नहीं है लेकिन वो प्रोफेशन कौन सा चुने।

और किस क्षेत्र में उसे ज्ञान अर्जित करना है इसका निर्णय व्यक्ति स्वयं ले सकता है।

मेरा व्यक्तिगत अनुभव है लाखों रुपए मैंने समाज के इस orthodox pattern को फॉलो करते हुए गवाए हैं।

इसलिए यदि आपको इस pattern में रुचि नहीं है तो आप मत फॉलो करें।

अब जानते हैं।

वो कौन सी गलती है जो Share market में हमें नुक़सान पहुंचा सकती है।

 

Share market RISK

 
दोस्तों हम मनुष्य हैं तो हमसे तो गलतियां होनी स्वाभाविक ही है।

लेकिन इन गलतियों को कितना कम से कम करें ये महत्वपूर्ण है।
 

1) Credit यानि कर्ज से दूर रहें :-

 
Share market RISK – ये गलतियां अक्सर जो नए नए शेयर मार्केट में आते हैं, वो करने लगते है।

दोस्तों credit यानि कर्ज ऐसा जकड़न है जो आपको जिंदगी भर पीछा नहीं छोड़ेगी।

इसलिए जिंदगी में भी यदि बहुत ज्यादा आवश्यकता न हो तो इन चीजों से दूर रहें।

क्रेडिट कार्ड आदि का इस्तेमाल करके घरेलू एक्सेसरीज आदि भी मत खरीदें सामान्य लाइफ में भी।

 

2) टीवी और YouTube पर बैठे एक्सपर्ट्स की राय को ज्यादा seriously न लें :-

 
मैं ये नहीं कहता हूं कि आप एक्सपर्ट्स को सुनें नहीं !!

लेकिन एक्सपर्स की राय को ज्यादा seriously यदि आप फॉलो करने लगेंगे तो फिर भी आपको कोई फायदा नहीं होना है। उल्टा नुक़सान हो जाएगा।

 

3) Trading Vs Investing सही niche चुनें :-

 
Trading करने आए हो तो ट्रेडिंग ही कीजिए लेकिन यदि long term के लिए investing करना चाहते हो तो सिर्फ वही कीजिए।

आपको अपना specific क्षेत्र चुनना हो होगा।

जो शेयर मार्केट में नए हैं वो अक्सर दोनों भी शुरू कर देते हैं।

लेकिन ट्रेडिंग और investing दोनों के अलग अलग नियम है।

अलग अलग तरीके हैं।
 

4) Averaging का नियम समझें :-

 
Share market RISK – नए लोग ट्रेडिंग में क्या सोचने लगते हैं कि यदि ग्राफ नीचे की ओर जा रहा होता है तो उसमें पैसे लगा देते हैं।

अब यदि ग्राफ और नीचे जाएगा तो और पैसे लगाने लगते हैं।

हालांकि अच्छी कम्पनियों में लंबे समय के लिए निवेश करते हुए ये नियम काफी कारगर है।

लेकिन ट्रेडिंग में ऐसा नहीं होता।

 

इसे भी पढ़ें:-Cyber Crime..10 तरीकों से हो रहा बैंक खातों से पैसा चोरी

 

5) Penny Stocks में मत फसिए :-

 
छोटे छोटे स्टॉक को देखते हुए लोग सोचने लगते हैं कि ये खरीद लिया जाए ताकि बाद में ये multibagger बन के निकले।

जबकि ऐसा 99% केस में नहीं होता।

इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि आपको Penny stock में ये सोच के नहीं फसना है।

ये तो वही बात हो गई बचपन वाली की जब सिक्कों को जमा कर करके 500 रुपए करते थे तो बहुत खुश होते थे, यदि कोई उस सिक्के को लेकर 500 का नोट दे दिया तो सोचने लगते हैं कि इसका क्या करूंगा?….

 

6) धैर्य खोने लगते हैं।:-

 
Warren Buffett जो कि एक शानदार इन्वेस्टर हैं, वो कहते हैं कि शेयर मार्केट धैर्य का खेल है।

तो छोटा नुकसान से डरें मत।

यदि कम्पनी पर स्टॉक पर या फंड पर आपको पूरा भरोसा है तो डरने की कोई बात नहीं।

 

7) Perfect Setup की तलाश में भटकते रहते हैं। :-

 
नए निवेशक या ट्रेडर क्या करते हैं कि वो 100% pefection खोजने लगते हैं।  जबकि ये खुद अप्राकृतिक है।

वो ऐसे स्टॉक खोजने के लिए बेताब होते हैं जो उन्हें surity दे कि वो रिटर्न देगा ही देगा!!

जबकि ऐसा जरूरी नहीं है।

शेयर मार्केट संभावना पर कार्य करता है।

यदि किसी स्टॉक के अच्छा रिटर्न देने की संभावना 80% है तो ये एक आदर्श स्टॉक होगा।

जिन्हे आप खरीद सकते हैं।

 

8) कभी ज्यादा motivate हो कर Share market में मत आएं :-

 
बड़े बड़े investment गुरु से मोटिवेट होकर यहां आना समय और पैसे दोनों की बरबादी है।

क्योंकि यहां मोटीवेशन नहीं स्किल काम आएगा।

 

इसे भी पढ़ें:-Top 6 dividend fund in hindi

 

9) न्यूज देखने Stock खरीदने की जल्दी न करें :-

 
हमेशा अपने सिद्धांतों पर स्टॉक को खड़ा करके देखें कि ये आपको खरीदना चाहिए या नहीं।

कभी भी न्यूज देख कर स्टॉक खरीद लेने की जल्दी न करें।

 

10) High value stock को ग़लत नजरिए से देखना :-

 
यदि किसी स्टॉक की value high है तो आप उसे ग़लत नजरिए से मत देखें।

ऐसा practical नहीं होता।

कभी बच्चों की तरह न सोचें कि कम value का स्टॉक है तो आप उसे खरीद लोगे तो ज्यादा शेयर आपको मिलेंगे।

ऐसा कुछ नहीं है।

आप पैसे तो अपने कुल निवेश पर ही कमाने वाले हो।

शेयर की संख्या तो बस एक number मात्र है।

 

 

आज के लिए इतना ही हम आपसे फिर से कई ज्ञानवर्धक लेख के साथ जुड़ते रहेंगे। Share market RISK लेख कैसा लगा ये आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताइएगा।

लेख के नियमित अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज moneysarthi.com को लाइक करें।

आर्टिकल के तुरंत और तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप या टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ना बिल्कुल न भूलें।

Money sarthi पर अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद !!

जय हिन्द

इस लेख का कॉपीराइट अधिकार money sarthi के पास सुरक्षित है। इस लेख या लेख का कोई भी भाग कॉपी करना या डिजिटल मीडिया में या किसी भी अन्य रूप में प्रकाशित करने पर कानूनी दंड के भागीदार होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *