Realme Watch S and S pro Review and Price

Realme Watch S and S pro Review and Price स्मार्ट फोन आए तो लगा घड़ियों का जमाना चला गया। किसी से समय पूछो तो वह कलाई की ओर नही देखता बल्कि उसका हाथ सीधे जेब की ओर बढ़ता, वह स्मार्टफोन निकालता और समय बता देता।

ऐसा लगने लगा कि जल्द ही घड़ियां बीते समय की बात हो जाएंगी, संग्रहालय में सजाकर रखने वाली चीज। वह यंत्र जो लोगों को समय बताता था उसका खुद का समय बीता जा रहा था।

पर साहिबान!

ऐसा कुछ हुआ नहीं। घड़ी सिर्फ समय बताने का यंत्र भर होती तो और बात थी वह कलाई की सुंदरता भी तो थी। एक प्रकार का Status symbol उसमें निहित था लिहाजा लोगों के मन में उसके लिए थोड़ी सी जगह बची रही और इतनी सी जगह घड़ी को पुनर्जीवित करने के लिए काफी थी।

wrist watch, Smart watch बनकर लौट आई। जो स्मार्टफोन उसके वजूद को मिटाने को प्रतिबध्द था घड़ी ने उसी से दोस्ती कर ली। समय का समय जंत्रिका(घड़ी) के साथ यह बड़ा ही पोएटिक जस्टिस था।

विगत दिनों में अलग-अलग कंपनियों और अलग-अलग कीमत के साथ कई Smart watch आई पर जितना प्रचलन में उन्हें होना चाहिए था उतना वह हो नहीं पाई। अब इस समय लग रहा है कि सम्भवतः घड़ियों का रुवाब भी स्मार्टफोन के जैसा ही होने वाला है। बड़ी-बड़ी कंपनियों में एक प्रतियोगिता चल पड़ी है। Smartwatch को और अधिक अपग्रेड किया जा रहा है , उन्हें और अधिक ग्राहक के अनुकूल बनाने की कोशिश हो रही है।

इसी क्रम में Realme ने अपनी दो नई स्मार्ट वॉच REALME WATCH S और REALME WATCH S PRO जारी की है। यह दोनों ही घड़ियां यद्यपि नाम से समान लगती हैं परंतु वास्तव में यह अलग-अलग वर्ग को टारगेट करती हैं। यह बिल्कुल Samrtphone की मिड रेंज सीरीज और प्रीमियम सीरीज की तरह है ।इन दोनों की कीमत में भी उसी तरह एक बड़ा अंतर है ।

 

Micromax In Note 1 and 1B Review and Comparison in Hindi

 

Realme Watch Price IN INDIA :-

 

Realme Watch S जहां 4999 ₹ में मिल रही है वही Realme Watch S Pro 9999 ₹ की उपलब्ध हो रही है। दोनों की कीमत में विशाल अंतर है। Watch S Pro Watch S की तुलना में सीधे दोगुने दामों पर मिल रही है। सिर्फ दामों में ही नहीं इन दोनों के फीचर्स में और साइज में भी स्पष्ट अंतर है।

इनके अंतर स्पष्ट करने से पहले हम इनकी समानता पर बात कर लेते हैं । दोनों ही घड़ियां एक ही जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलती हैं जो कि दोनों में पहले से ही लोड आता है। Smart watches आपको वर्कआउट मोड की सुविधा देती हैं जिनके द्वारा आप अपने वर्कआउट को मॉनिटर कर सकते हैं । कोई स्मार्ट वॉच दूसरी स्मार्ट वॉच से इन मायनों में अलग हो सकती है कि वह दूसरी की अपेक्षा कितने ज्यादा वर्कआउट मोड उपलब्ध कराती है। इन दोनों smart watches में workout mode की संख्या समान है जिस में निम्न एक्टिविटी शामिल हैं-
Yoga, spinning, swimming, basketball, rowing, hiking, elliptical,cycling, indoor run, outdoor run, walk, cricket , strength training और free workout।

इन दोनों ही वाच को Android और iOS device से connect किया जा सकता है। connect करने के लिए Realme link app का इस्तेमाल होता है।
इन दोनों वाच के साथ interchangable straps आते हैं। आप अपनी सुविधा व colour match के अनुसार बदल बदल कर इन्हें पहन सकते हैं।

 

इसे भी पढ़े :दिमाग तेज करने का नियम ( Dimag Tej Karne Ke Niyam )

 

 

समानता के बाद इन दोनों smart watches के बीच के प्रमुख अंतर को देख लेते हैं-

Realme Watch S Vs Realme Watch S pro : –

 

  • Realme Watches Display

 

स्मार्ट वॉच में मुख्यतः दो प्रकार की डिस्प्ले प्रयोग होती है- आयताकार और गोलाकार । इन दोनों वॉच में गोलाकार डिस्प्ले का प्रयोग किया गया है। जहां Watch S में 1.3 इंच की colour touch screen display दी गई है वहीँ realme watch s pro में 1.39 इंच की AMOLED Display दी गई है जो ‘Always on’ फ़ीचर को सपोर्ट करती है। यद्यपि की यह फीचर अभी उपलब्ध नहीं है पर पूरी संभावना है कि एक अपडेट के साथ यह जोड़ दिया जाएगा।

‘Always On Display’ एक ऐसा फीचर है जिसमें लिमिटेड फंक्शन हमेशा स्क्रीन पर दिखाई देते रहते हैं। स्क्रीन पूरी तरह कभी भी blank या sleep mode में नहीं जाती है। इससे देखने मे स्मार्टवॉच wrist watch की भांति ही हो जाती है।

इन दोनों ही वाच के किनारे पर मिनट मार्किंग की गई है जिससे इनका लुक थोड़ा नेचुरल बनता है।

  •  Realme Watches Water proofing

     

घड़ियों के साथ एक प्रमुख समस्या रही है कि वे हाथ धोते समय अक्सर पानी मे पड़ जाती थी और खराब हो जाती थी। Smartwatches को डिज़ाइन करते समय इस बात का सबसे ज्यादा ध्यान रखा जाता है कि वे सही तरीके से water proofing में सक्षम हों।

Realme की ये दोनों ही घड़ियाँ water proof हैं परंतु कीमत के अनुसार इनकी क्षमता में एक दूसरे की अपेक्षा कुछ अंतर है। Realme Watch S को IP68 सर्टिफिकेट मिला हुआ है जिसका मतलब होता है कि यह वॉच 1.5 मीटर गहरे पानी मे 30 मिनट तक पड़ी रह सकती है। परंतु यह एक पैमाना है।

आप यह मानकर चलें कि यह घड़ी साधारण छींटे, बारिश आदि में तो आसानी से अपना काम करेगी परंतु लंबे समय तक swimming जैसी क्रियाओं के लिए यह कहा नहीं जा सकता। वहीँ Watch S Pro 50 मीटर तक गहरे पानी मे रह सकती है और 5 ATM तक का वायुमंडलीय दवाब सहन कर सकती है। इस घड़ी में स्विमिंग मोड दिया गया है अतः यह मान लेना चाहिए कि स्विमिंग करते समय इसको कोई खतरा नहीं है।

इसे भी पढ़े:-5 RULES OF RICH PEOPLE |SECRETS OF MILLIONAIRE MIND BOOK

  •  Realme Watch Battery

     

Realme में अपनी प्रथम जनरेशन स्मार्टवॉचेस की तुलना में इस सेकंड जेनरेशन वॉचेस की बैटरी क्षमता पर अच्छा काम किया है। realme का दावा है कि सिंगल चार्ज के साथ Watch S की बैटरी 15 दिन तक चल जाती है जबकि Watch S Pro की 14 दिन तक चल जाती है। इन दोनों में चार्जिंग के लिए magnet pin charging solution का इस्तेमाल किया गया है।

अभी तक मौजूद अन्य दूसरी स्मार्टवॉचेस के मुकाबले realme की यह स्मार्टवॉच ख़ूबसूरत भी है और टिकाऊ भी। इसकी डिजाइनिंग लुभावनी है और बैटरी बैकअप भी अच्छा है।

 

Get Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *