कुलभूषण जाधव

कुलभूषण जाधव मामले पर झुका पाकिस्तान, पास किया है पार्लियामेंट्री बिल !

नमस्कार,

Moneysarthi पर आपका एक बार फिर से बहुत बहुत स्वागत।

लगातार हम आपसे इंटरनेशनल अफेयर्स, स्टॉक मार्केट, फाइनेंस, बिजनेस और ज्वलंत मुद्दों पर जुड़ते रहते हैं।

खबर निकल के आ रही है, कि एक बार फिर भारत को कुलभूषण मामलों पर जीत का स्वाद प्राप्त हुआ है।

 

# पाकिस्तान ने पास किया है पार्लियामेंट्री बिल :-

 
कुलभूषण जाधव मामले को लेकर पाकिस्तान पर लगातार अंतरराष्ट्रीय मंचों और भारत का pressure बढ़ रहा था।

यही वजह है, कि पाकिस्तान को ये बिल पास करना पड़ा।

अब कुलभूषण जाधव की सुनवाई , पाकिस्तान के सिविलियन कोर्ट में की जाएगा।

जिसकी मांग भारत वर्षों से कर रहा है और ICJ में भी भारत की मांग प्रस्ताव में से एक मांग ये भी थी।
 

# इमरान सरकार का हो रहा भारी विरोध :-

 
पाकिस्तान कट्टरपंथियो का गढ़ माना जाता है।

यहां जनता द्वारा चुनी गई सरकार कम और आतंकवादी और सेना देश को ज्यादा चलाते हैं।

यही वजह है कि पाकिस्तान में इमरान सरकार के इस फैसले के बाद भारी विरोध हो रहे हैं।

सरकार के खिलाफ नारे लग रहे हैं।

कट्टरपंथी समूह प्रदर्शन की शुरुआत कर चुके हैं, और बड़े प्रदर्शन की तैयारी में हैं।

हो न हो एक बड़े प्रदर्शन की भी खबर आने की उम्मीद है।

सरकार को विपक्ष का भी भारी विरोध झेलना पड़ रहा है।

 

इसे भी पढ़ें:-Hair Fall ? यह योगासन रोक सकते हैं आपका बाल झड़ना

 

# ICJ का दवाब और भारत की बड़ी जीत :

 
आपको याद हो वर्ष 2017 में तत्कालीन विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी ने कहा था।

“हम कुलभूषण जाधव के लिए कुछ भी करेंगे”

उसके बाद भारत अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की ओर रुख किया और पाकिस्तान को यहां मूंह की खानी पड़ी थी।

16 में से 15 जज भारत के पक्ष में थे।

जबकि एक जज जो पाकिस्तानी था, पद की गरिमा गिराई थी और उन्होंने भारत के पक्ष में वोट नहीं की।

अंतरराष्ट्रीय कोर्ट भारत के लगभग सभी मांगों को मान गई, और पाकिस्तान को अमल करने की हिदायत दी थी।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने फिर भी इसे पाकिस्तान की जीत बताई, जो कि हास्यास्पद है।
 

#कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान और भारत का क्या है claim :-

 
Kulbhushan Jadhav का जन्म महाराष्ट्र में हुआ था।
 

• India’s Claim on Kulbhushan Jadhav :-

 
भारत कहता है कि कुलभूषण जाधव एक पूर्व नौसैनिक अधिकारी थे।

ईरान में कुलभूषण ने बिजनेस खोला। 

ईरान से पाकिस्तान ने उन्हें अपहरण कर फर्जी सजा सुनाई।
 

•Pakistan claim on Kulbhushan Jadhav:-

 
पाकिस्तान कुलभूषण जाधव मामले पर कहता है।  कुलभूषण नौसेना का अधिकारी है। Kulbhushan की कोई रिटायरमेंट नहीं हुई है।

कुलभूषण व्यापारी नहीं, बल्कि एक Raw का एजेंट था, raw के लिए काम करता था।

Balochistan Attack (बलूचिस्तान के अटैक) में कुलभूषण जाधव का बड़ा रोल था।
 

# India claimed Kulbhushan is Kidnapped:-

 
• भारत यह कहता है कि पाकिस्तान ने ईरान में बहुत ज्यादा अन्दर घुसकर कुलभूषण जाधव को पकड़ा है।

पाकिस्तान यहां कहता है कि उन्होंने पाकिस्तान ईरान सीमा के नजदीक ही कुलभूषण को पकड़ा है।

भारत इसे सीधा सीधा अपहरण मानता है।
 

# कुलभूषण के जासूस होने का कोई भी प्रमाण पाकिस्तान के पास नहीं :-

 
पाकिस्तान में FORMER NSA सरताज अजीज कहते हैं कि पाकिस्तान के पास कुलभूषण के जासूस होने तक का सबूत नहीं है।
दोषी करार दिए जाने की तो दूर की बात है।

आप अंदाजा लगा सकते हैं, पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार यानि जो काम अभी हमारे देश मे अजीत डोभाल संभाल रहे हैं।

वो यदि कहते हैं कि पाकिस्तान के पास कोई सबूत नहीं, तो सोच सकते हैं पाकिस्तान किस हद तक इस केस में कमजोर पड़ चुका है।

लेकिन पाकिस्तानी अथॉरिटीज अभी भी कहती है, कुलभूषण जाधव भारतीय जासूस है

Kulbhushan को बलूचिस्तान से गिरफ्त में लिया गया है।

 

इसे भी पढ़ें:-Cyber Crime..10 तरीकों से हो रहा बैंक खातों से पैसा चोरी

 

#पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव मामले को सौंपा था मिलिट्री कोर्ट में :-

 
भारत हमेशा से इस वजह से पाकिस्तान को निशाने पर लेता रहा कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत जहां न्याय नाम की कोई चीज नहीं है।

हमेशा से फर्जी केस बना देने के लिए बदनाम रही है।

ऐसे बदनाम कोर्ट को पाकिस्तान कुलभूषण जाधव का केस कैसे सौंप सकता है।

जहां सिर्फ एक कमरे में सुनवाई हो जाती हों, कोई वकील भी नहीं मिलती।

ये एक बड़ा ही संवेदनशील विषय है।

पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने झटपट केस बना के कुलभूषण को जासूस घोषित कर दी।

कोर्ट ने कहा, कुलभूषण बलूचिस्तान को destabilize करने की कोशिश की।

इसलिए कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाई गई।

जबकि ये एक पूरी तरह से सबकुछ फर्जीवाड़े के तहत हुआ।

दुनिया में पाकिस्तान की कोर्ट की बहुत ही खराब रेपुटेशन है।
 

# क्यों है पाकिस्तानी कोर्ट की बहुत ही खराब रेपुटेशन :-

 
याद हो, 26/11 की घटना जब भारत पर एक आतंकवादी हमला हुआ था, मुंबई में।

हमारे पास अब्दुल कसाब के खिलाफ बहुत सारे प्रूफ थे। फिर भी भारत ने इस केस को मिलिट्री को नहीं सौंपा था।

बॉम्बे हाईकोर्ट में ये केस लंबे समय तक चला था, फिर ये केस सुप्रीम कोर्ट भी गया।

Even उसके बाद राष्ट्रपति के पास भी गया।

तब जाकर कसाब को फांसी की सजा सुनाई गई थी।

एक proper justice की प्रक्रिया पाकिस्तान में फॉलो नहीं होती।

यही वजह है कि पाकिस्तानी कोर्ट दुनिया में सबसे ज्यादा बदनाम कोर्ट में से एक है।
 

# ICJ – international court of justice में कुलभूषण जाधव केस :-

 
11 अप्रैल 2017 में तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जी के प्रयास के बाद भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय जिसका मुख्यालय हेग में है।

वहां अपनी अर्जी डाली।

भारत ने ICJ में सवाल उठाया , कि 2017-19 तक सिर्फ दो साल में झटपट केस बनाकर पाकिस्तान में न्याय का एक बहुत ही खराब उदाहरण प्रस्तुत किया है।

न्याय भी वहां जहां सिर्फ एक कमरे में सुनवाई होती है।

कुलभूषण को कोई वकील नहीं दी गई, जो उनका पक्ष रखता।

ऐसे में ये न्याय बिल्कुल फर्जी है।

भारत और पाकिस्तान के वकील के बीच लम्बी बहस हुई जिसमे भारत के वकील हरीश साल्वे पाकिस्तानी वकील को पानी पिलाते नजर आए।

हरीश साल्वे वही महान वकील हैं, जिन्होंने मात्र एक रुपए में ये पूरा केस अपने देश के लिए लड़े।

वहीं पाकिस्तानी वकील जिन्होने इस केस के लिए सरकार से 20 करोड़ रुपए वसूले।

हरीश साल्वे जी के सार्थक बहस के बाद ICJ ने पाकिस्तान के द्वारा दिए जाने वाले कुलभूषण जाधव को फांसी के फैसले को रोक दिया।

और ये भारत के लिए एक बहुत बड़ी जीत थी।
 

#पाकिस्तान के इस बिल पर भारत का क्या विचार है?

 
भारत ने पाकिस्तान के इस बिल का जोरदार स्वागत किया है।

ये एक WELCOME MOVE है।

भारत का कहना है, जो भी सबूत हो बिल्कुल खुला रखो।

भारतीय वकील को केस लडने की अनुमति दो, पर पाकिस्तान इसके लिए तैयार नहीं हो रहा।

भारत ने ये भी कहा है, अगर भारत के वकील की permission नहीं तो फिर किसी अन्य देश के वकील को भी कम से कम इस केस को लडने की अनुमति मिलनी चाहिए।

इस पर पाकिस्तान ने अभी तक कुछ जवाब दिया नहीं है। देखते हैं आगे क्या होता है

 

इसे भी पढ़ें:-Khud ka Mutual Fund Kaise Banaye ..बहुत सारा पैसा बचा सकते हैं आप !

 

आज के लिए इतना ही हम आपसे फिर से कई ज्ञानवर्धक लेख के साथ जुड़ते रहेंगे। लेख कैसा लगा ये आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताइएगा।

लेख के नियमित अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज money sarthi को लाइक करें।

आर्टिकल के तुरंत और तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए आप हमारे व्हाट्सएप या टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ना बिल्कुल न भूलें।

Money sarthi पर अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद !!

||जय हिन्द||

इस लेख का कॉपीराइट अधिकार money sarthi के पास सुरक्षित है। इस लेख या लेख का कोई भी भाग कॉपी करना या डिजिटल मीडिया में या किसी भी अन्य रूप में प्रकाशित करने पर कानूनी दंड के भागीदार होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *