दौलत कमाने की 11 फाइल्स

दौलत की फाइल – मेरा नाम सौरभ है और आज मैं आपके लिए लेकर आया दौलत बनाने की ऐसी 11 फाइलें जो ये तय करती हैं कि आप भविष्य में अमीर होंगे या गरीब। ये 11 तरीके सुझाये गए हैं T. Harv Eker द्वारा लिखी गई कालजई पुस्तक ‘सीक्रेट्स ऑफ़ द मिलिनिअर माइंड‘ में।

जिन्हें हम यहाँ संछिप्त रूप से लेकर आये हैं सिर्फ आपके लिए।

तो चलिए शुरू करते हैं :-
 

दौलत कमाने की 11 फाइल्स

 

#1 दौलत की फाइल :-

 
अमीर लोग मानते हैं कि “मैं अपनी ज़िंदगी ख़ुद बनाता हूँ।”

गरीब लोग मानते हैं कि “ज़िंदगी में मेरे साथ घटनाएं होती हैं।”

जैसा कि ऊपर लिखी लाइनों से प्रतीत हो रहा है कि अमीर मानसिकता के लोग हमेशा ये सिद्धांत मानकर चलते हैं कि उनकी लाइफ में जो कुछ भी अच्छा या बुरा हो रहा है वो उनकी पूर्व में किये गए निर्णयों का नतीजा भर है।

अगर उन्होंने बेहतर निर्णय लिए होंगे तो लाइफ अच्छी बीतेगी मगर गलत निर्णय मामले को बिगाड़ सकते हैं। वे इस बात की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं और सुधारते भी हैं।

वे खुद पर काम करते हैं। जबकि गरीब मानसिकता के इंसान को अपनी ज़िंदगी से हमेशा शिकायत ही रहती है। वो अपने साथ घटित हो रही चीज़ों की कभी जिम्मेदारी नहीं लेता।

 

#2 दौलत की फाइल :-

 
“अमीर लोग पैसे का खेल जीतने के लिए खेलते हैं,

गरीब लोग पैसे का खेल हार से बचने के लिए खेलते हैं।”

सार ये है कि यदि अमीर होना है तो रिस्क तो लेना पड़ेगा। सारी उम्र नौकरी करने से ज़्यादा रिस्की काम तो मैं सोच भी नहीं सकता। आप महज एक पे चेक के ना आने की दूरी पर होते हो अपनी लाइफ की तबाही से।

ज़रा सोचकर देखिये अगर आपकी अगले महीने की तनख्वाह ना आये तो क्या होगा ? अमीर लोग इन्वेस्टर होते हैं वे अपनी कमाई से ऐसी चीज़ीं खरीदते हैं जो उन्हें वापस पैसे कमाकर दे।

जबकि गरीब लोग हमेशा ऐसी चीज़ों में अपनी कमाई उड़ा देते हैं जो हर महीने उनकी जेब से और पैसे निकलवाती रहती हैं।

 

#3 दौलत की फाइल:-

 
“अमीर लोग अमीर बनने के लिए समर्पित होते हैं,

गरीब लोग अमीर बनना चाहते हैं।”

यहाँ बात एक्शन की है। अमीर लोग अमीर बनने के लिए योजनाएं बनाते हैं फिर उन्हें बेहतर तरीके से ज़मीन पर उतार देते हैं। जबकि गरीब लोग सिर्फ सोचते रह जाते हैं और शेख चिल्ली की तरह बस सपने देखते रहते हैं।

 

इसे भी पढ़े:-6 काम करो, हर कोई इज़्ज़त करेगा
 

#4 दौलत की फाइल्स:-

 
“अमीर लोग बड़ा सोचते हैं, गरीब लोग छोटा सोचते हैं।”

अमीर लोग जब कभी भी योजना बनाते हैं तो वे कभी सिर्फ पैसे कमाने के बारे में नहीं सोचते। वे एक मिशन पर होते हैं जिसे उन्हें पूरा करना होता है, जिसके उपहार के रूप में उन्हें ढेर सारी दौलत मिलती है।

जबकि गरीब लोग अगर कोई बिजनेस शुरू भी कर देते हैं तो उन्हें उससे तुरंत कमाई करने की तलब लगी रहती है, ऐसे में वे कुछ न कुछ गलत निर्णय लेकर अपने काम को बंद करवा ही लेते हैं और फिर कहते फिरते हैं कि बिजनेस करना रिस्की है।

 

इसे भी पढ़े :दिमाग तेज करने का नियम ( Dimag Tej Karne Ke Niyam )

 

#5 दौलत की फाइल्स:-

 
“अमीर लोग अवसरों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, गरीब लोग बाधाओं पर।”

क्या आप कभी किसी अमीर इंसान से मिले हैं? अगर नहीं तो सबसे बड़ी पहचान उनकी यही होती है, वे हमेशा अवसरों की तलाश में रहते हैं। जैसे ही उन्हें कोई नया अवसर दिखाई पड़ता है पैसे कमाने का वे इन्वेस्ट करते हैं।

जबकि गरीब लोग हमेशा रास्ते में आने वाली रुकावटों की बातें करते मिलते हैं। मेरा एक दोस्त ऐसे ही हमेशा हर चीज़ के बारे में नकारात्मक बातें किया करता था।

आखिरकार अब मैं उसे ये मौका नहीं देता क्योंकि मैंने उससे दोस्ती ही ख़तम कर ली। ऐसे लोग जहरीले होते हैं, वे आपके सोचने समझने की शक्ति पर हावी हो सकते हैं। इसलिए ऐसे इंसानो से दूरी बना लें।

 

#6 दौलत की फाइल्स :-

 
“अमीर लोग दुसरे अमीर लोगों की प्रशंसा करते हैं, गरीब लोग ईर्ष्या रख लेते हैं।”

यदि आपके आस पास कोई व्यक्ति अपनी लाइफ में बेहतर कर रहा है तो हमेशा उनकी प्रशंसा कीजिये। ऐसा करके आप उनसे कुछ सीख पाएंगे। उनसे अपनी योजनाओं के बारे में चर्चा कीजिये, ऐसा करके आप उनके अनुभव से कुछ निर्देश पा सकेंगे।अन्यथा ईर्ष्या करने से सिर्फ बुद्धि का नाश होता है। अगर दिमाग काम करेगा ही नहीं तो आप बिजनेस कैसे बना पाएंगे ?

 

#7 दौलत की फाइल :-

 
“अमीर लोग सकारात्मक और अमीर लोगों के साथ रहते हैं, जबकि गरीब लोग असफल और गरीब लोगों के साथ। “

इस लाइन का यहाँ ये मतलब नहीं है कि गरीब लोग अच्छे इंसान नहीं होते। इनका ये मलतब है कि यदि आप गरीब लोगों के साथ समय बिताते हैं तो वे आपको गरीब कैसे बना जा सकता है ? ये बात सिखाएंगे जबकि अमीर लोगों की संगती में उल्टा होता है। वे सफल होना सिखाते हैं, इसलिए बड़े बुजुर्ग कह गए हैं कि संगती अच्छी रखिये।

 

इसे भी पढ़े:-5 RULES OF RICH PEOPLE |SECRETS OF MILLIONAIRE MIND BOOK
 

#8 दौलत की फाइल:-

 
“अमीर लोग अपना और अपने मूल्य का प्रचार करने के इच्छुक होते हैं। गरीब लोग बेचने और प्रचार के बारे में नकारात्मक राय रखते हैं।”

इस बात को ऐसे समझिये, मान लीजिये डोमिनोज़ एक बेहतर पिज़्ज़ा बना तो लेता मगर उसका प्रचार ना करता कि वो एक बेहतर पिज़्ज़ा बना सकता है, तो क्या होता ?

जाहिर सी बात है कि लोगों को पता ही नहीं चलता की वे इतना बेहतर पिज़्ज़ा बना सकते हैं। तब फिर वे इतने अमीर ही नहीं होते। अगर आपके पास कोई बेहतर विकल्प है तो शुरुआत में कम से कम ढोल पीटकर बताना ही पड़ेगा। अन्यथा लोगों को पता कैसे चलेगा कि उनकी समस्या का समाधान आपके पास है ?

यही बात अगर एक गरीब मानसिकता वाले आदमी से कही जाये तो वो बोलेगा कि उसे दिखावा नहीं करना है। जबकि शुरुआत में तो बताना ही पड़ता है। बाद में जब लोगों को आपके प्रोडक्ट या सर्विसेज के बारे में जानकारी हो जाती है तो इतनी ज़रूरत नहीं पड़ती।

 

इसे भी पढ़े:-How to Increase Business? – Top 5 Strong Techniques

 

#9 दौलत की फाइल्स :-

 
“अमीर लोग अपनी समस्याओं से ज़्यादा बड़े होते हैं, जबकि गरीब लोग अपनी समस्याओं से छोटे होते हैं।”

जैसा कि मैं पहले भी कह चुका हूँ कि अमीर बनना कोई हंसी खेल नहीं हैं। ये एक ऐसी यात्रा है जिसमे ढेर सारे मोड़ हैं, गड्ढे हैं, घुमाव हैं, जाल है और जी का जंजाल है। अधिकतर लोग इतनी जिम्मेदारियां लेना नहीं चाहते इसलिए वे हमेशा गरीबी में रोते रहते हैं।

ज़्यादा से ज़्यादा एक मध्यमवर्गीय जीवन व्ययतीत करते हैं। जबकि अमीर लोग इन सब झंझावातों को पार कर चुके होते हैं, उनके लिए ये सब रुकावटें कोई बड़ी बात नहीं होती।

वे आसानी से सभी पर जीत हासिल करते हैं। ऐसा वे सिर्फ इसलिए कर पाते हैं क्योंकि वे पहले भी ऐसी मुश्किलों से लड़ चुके हैं।

“गिरते हैं सहसवार ही मैदान ए जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेगा जो खुद घुटनों के बल चले।”
 

#10 दौलत की फाइल्स :-

 
“अमीर लोग उत्कृष्ट प्राप्तकर्ता होते हैं, गरीब लोग ख़राब प्राप्तकर्ता होते हैं।”

यहाँ बात सीखने की कला को लेकर है। अमीर सोच का इंसान हमेशा नई बातों को सीखने के लिए ललाइत रहता है। और जब कभी कोई ऐसा मौका आता है तो उसे सीखने की अभूतपूर्व क्षमता को पप्रदर्शित करता है।

जबकि गरीब मानसिकता का व्यक्ति पहले तो ये ही मान कर चलता है कि उसे सब पता है क्योंकि उसे एक अदद सरकारी नौकरी लग गई है, ढेर सारी जानकारियों को याद रखने की वजह से।

दूसरा उसे कुछ भी नया सीखने की इच्छा ही नहीं होती है। जब भी कोई नहीं चीज़ सामने आती है तो वहां से कट लेता है।

 

इसे भी पढ़े:-Bitcoin Kya hai in Hindi

 

#11 दौलत की फाइल्स :-

 
“अमीर लोग अपने परिणामों के आधार पर भुगतान का विकल्प चुनते हैं। गरीब लोग अपने लगाए गए समय के आधार पर भुगतान चाहते हैं।”

जेफ़ बेजोस को 4 साल लग गए थे अमेज़न कंपनी को प्रॉफिटेबल बनाने में। 4 साल लगातार बिना किसी कमाई के एक कंपनी को चलाये रखना पागलपन नहीं तो और क्या कहा जायेगा ?

यही पागलपन आज अमेज़न को दुनिया की सबसे अमीर कंपनी में से एक बना चुका है। जेफ़ को पता था कि वे क्या कर रहे हैं और उसे कैसे और ज़्यादा बेहतर किया जा सकता है ताकि उनके द्वारा की गई मेहनत सफल हो सके। वे अपने लक्ष्य से भटके नहीं, धीरे धीरे ही सही मगर लगातार चलते रहे।

आज वे दुनिया के सबसे अमीर इंसान हैं। उन्होंने कभी अपने काम के तुरंत भुगतान पर ध्यान नहीं दिया। वे जानते थे कि जब एक बेहतर प्रोडक्ट या सर्विस वे देने लगेंगे तो अपने आप पैसे आना शुरू हो जायेंगे।

गरीब लोग पैदाइशी नौकर होते हैं, वे हमेशा एक अदद नौकरी की तलाश में रहते हैं। पहले सरकारी, फिर कोई भी मिल जाये। मगर करेंगे तो नौकरी ही। कुछ ऐसे भी होते हैं जो कोशिश करके बिजनेस शुरू भी करते हैं, मगर उनकी वहां भी चाहत नहीं बदलती कि दिन भर काम किया है तो रात में पैसे हाथ में होने चाहिए वो भी लाभ के साथ।

ऐसा थोड़े ही होता है। इतना ही आसान होता तो हर इंसान जेफ़ बेजोस नहीं बन जाता।

 

तो, दोस्तों ये रहे कुछ दौलत कमाने की 11 फाइल्स, पैसों को लेकर लिखी गई एक कालजई किताब “ सीक्रेट्स ऑफ़ द मिलेनियर माइंड ” से। आशा करता हूँ आपको ये जानकारी काफी पसंद आई होगी।

धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *