बिजनेस के लिए पूंजी कहां से लाएं? ग्रेट बिज़नेस आइडिया खोजने का रहस्य

मेरा नाम सौरभ है बिजनेस के लिए पूंजी कहां से लाएं? ग्रेट बिज़नेस आइडिया खोजने का रहस्य और मैं आपको मुबारकबाद देना चाहता हूं, अब आप सोचेंगे की वो भला किसलिए??

तो मैं आपको याद दिलाता हूं अपने पहले आर्टिकल के बारे में जहां मैंने एक पंक्ति का उपयोग किया था जो कि कुछ यूं थी, ” लेबर लॉ की धज्जियां उड़ाई जाएंगी” हालांकि मैंने तो सिर्फ धज्जियां उड़ाने की बात की थी, मगर उत्तर प्रदेश में तो इस कानून को ही खत्म कर दिया गया।

जी हां ये खबर बिल्कुल सच है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अगले 3 साल के लिए लेबर लॉ को स्थगित कर दिया है। अब ज़रा समझते हैं कि इसके मायने क्या हैं?

  • – कर्मचारी के लिए काम के घंटे तय नहीं रहेंगे। उन्हें रोजाना 12 घंटे काम करना होगा।

 

  • – कर्मचारियों का शोषण करना कंपनियों की जागीर हो जाएगी।

 

  • – कंपनियां किसी भी समय बिना सूचना के अपने कर्मचारी को नौकरी के निकल सकेंगी।

 

  • – निम्नतम मजदूरी जैसे कोई मानक नहीं रह जाएंगे। कम से कम दर पर कर्मचारी भरती किए जाएंगे।

 

  • – मेडिकल इमरजेंसी के अलावा कोई छुट्टी नहीं मिला करेगी।

 

  • – अन्य सुविधाओं जैसे मेडिकल बीमा, दुर्घटना बीमा या फिर अन्य भत्तों संबंधी चीजें नदारद हो जाएंगी।

 

और सबसे बड़ी बात ये है कि इन सब गलत नीतियों पर कहीं कोई सुनवाई नहीं होगी। अगर आप लेबर लॉ को लागू करने का इतिहास पढ़ेंगे तो ना जाने कितनी हड़तालें, जुलूस, आहुतियां, भुखमरी और मौतों के बाद ये कानून हरक़त में लाया जा सका था

ताकि जो नौकरीपेशा हैं वो गुलामी की जंजीरों में जकड़े नज़र ना आएं। मगर अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने जुगत में उन कुर्बानियों के कोई मायने नहीं रहने जा रहे।

यही समय है, खुद को पहचानिए और अपना खुद का बिजनेस बनाइए, हम आपके साथ हैं। मुबारकबाद सिर्फ इसलिए क्योंकि आप जल्द ही गुलामी से फिर आज़ाद हो जाएंगे

 

ग्रेट बिज़नेस आइडिया खोजने का रहस्य

मैंने आपको नौकरी के बजाए बिजनेस करने का आग्रह किया क्योंकि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए किसी कंपनी में नौकरी करना ख़ुद को किसी भूखे शेर के बाड़े में फेंक देने जैसा है क्योंकि बिना लेबर लॉ के मालिक आपको चीर फाड़ के रख देगा ये तय है।

इसलिए हम आज लेकर आये हैं एक बहुत ही आसान तरीका जिससे आप जान पाएंगे कि कौन सा बिजनेस करना बेहतर होगा ताकि आपके सफलता के मौके बढ़ जाएं।

हर कोई कहता है कि बिजनेस एक ग्रेट आइडिया होता है जो बहुत कम लोग ही सोच सकते हैं, जिसके लिए दिन रात एक किए जाते हैं तब जाकर कोई बिजनेस सफल हो पाता है।

सरासर झूठ बात है ये………

बिज़नेस कोई ग्रेट आइडिया नहीं होता बल्कि एक छोटे से आइडिया को लागू करने का एक ग्रेट तरीका होता है।

बहुत से लोग अपना बिज़नेस करना चाहते हैं, कुछ शुरू भी करते हैं, बहुत से असफल होते हैं, मगर कुछ सफल भी होते हैं। अब इनमें अंतर कैसे आता है?? इसका उत्तर आपको आगे मिलेगा।

अगर आपके मन में कोई ग्रेट आइडिया नहीं है और आप सोच भी नहीं पा रहे हैं तो कोई नई बात नहीं है। ऐसा सभी के साथ होता है।

बिज़नेस कोई ग्रेट आइडिया नहीं बस लोगों की जरूरतों को पूरा करने का एक तरीका है। और उनकी जरूरतों को जाने बिना आपका कोई बिज़नेस तरक्की नहीं कर सकता। अगर आप कोई बिज़नेस आइडिया चाहते हैं तो लोगों के बीच घूमिए क्योंकि घुमक्कड़ी से बड़ा धर्म और कर्म कुछ हो ही नहीं सकता।

जब आप उनके बीच घूमेंगे उनसे बातचीत करेंगे तो आपको बहुतेरी ऐसी ऐसी छोटी छोटी उनकी जरूरतों के बारे में पता लगेगा जिनको कोई पूरा नहीं कर पा रहा होगा और उसके लिए वो पैसे खर्च करने को भी तैयार होंगे।

उनके बीच जाइए, उनकी जरूरतों की सूची बनाइए, उनमें से ऐसी ज़रूरतें अलग करिए जिनका तत्काल में कोई समाधान ना हो। फिर उनकी उस परेशानी का समाधान खोज निकालिए। आसान है। और लीजिए आपका तथाकथित ग्रेट आइडिया आपके दिमाग में आ चुका है।

अब उस आइडिया को ज़मीन पर उतारने के लिए मेहनत शुरू कर दीजिए, क्योंकि मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता।

 

Click here tO rEAD:-पैसे के बहाव को कैसे कंट्रोल करें?

बिजनेस के लिए पूंजी कहां से लाएं?

मान लीजिए आपको एक ऐसा आइडिया मिल भी जाता है जिसमें आपको सफलता के अच्छे मौके दिख रहे हों मगर सबसे पहले जो समस्या का सामना आपको करना पड़ेगा वो है पूंजी।

जी हां ये आम धारणा है कि बिजनेस करने के लिए ढेर सारे पैसे की जरूरत होती है। ढेर सारे के बारे में हम बाद में चर्चा करेंगे पहले थोड़े बहुत पैसे इकट्ठे करने के बारे में सीखा जाए तो बेहतर होगा।

ये बहुत आसान सा फंडा है। लेखक “जे एफ क्लासन” अपनी किताब “बेबीलोनिया का सबसे अमीर आदमी” में लिखते हैं कि किसी बिजनेस को शुरू करने के लिए जो शरुआती पूंजी की आवश्यकता होती है वो ही आपका सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट होता है।

अगर अभी आप कहीं नौकरी करते हैं तो अपनी तनख्वाह का 10% हर महीने बचाना शुरू कर दीजिए और अपने चुने हुए बिजनेस में जितनी पूंजी की आवश्यकता होगी उसे लिखकर रखिए। जब आपके पास बचत इतनी हो जाए कि बिजनेस शुरू किया जा सकता है, उसे इस्तेमाल करिए।

अब आप सोच रहे होंगे कि इस तरह से तो मुझे सालों लग जाएंगे सिर्फ पूंजी जुटाने में, मैं अपना बिजनेस शुरू कब कर पाऊंगा????

 

PLease click here to Read:-क्या आपको पता है, इनकम कितने प्रकार की होती है??

 

तो आपको अपनी ज़रूरत के सिर्फ 20% भाग को इकट्ठा करना है बाकी का काम “दूसरों का पैसा” करेगा। दूसरों का पैसा से मेरा मतलब अच्छे कर्ज से है।

आपके पास एक बेहतरीन बिजनेस आइडिया है मगर पूंजी की वजह से आप आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं, इसलिए रुकिए नहीं। बैंक या अन्य स्रोतों से कर्ज लीजिए और अपने सपने पूरे कीजिए।

कर्ज ख़ुद में अच्छा या बुरा नहीं होता, उसको इस्तेमाल करने का तरीका ही ये निर्धारित करता है।

 

 

PLease click here to Read:-दिमाग तेज करने का नियम ( Dimag Tej Karne Ke Niyam )

 

सादर नमस्कार!

6 thoughts on “बिजनेस के लिए पूंजी कहां से लाएं? ग्रेट बिज़नेस आइडिया खोजने का रहस्य”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *