Bangladesh GDP

Bangladesh GDP – एक बहुत ही ज्वलंत मुद्दे पर, दुनिया भर के न्यूज चैनल , मीडिया, और देशों में ये चर्चा हो रही है कि बांग्लादेश ने भारत को प्रति व्यक्ति आय के मामले में पीछे छोड़ दिया है।

  1. ऐसा क्यों हुआ ?
  2. कैसे हुआ?
  3. भारत के लिए नेगेटिव है या पॉजिटिव

हम सारे point of view को इस पोस्ट में देखने का प्रयास करेंगे।
 

Bangladesh GDP ka Itihaas

 
आजादी के बाद भारत से टूटकर बने पाकिस्तान के दो हिस्से बने।

एक पूर्वी पाकिस्तान

दूसरा पश्चिमी पाकिस्तान

पूर्वी पाकिस्तान के लोगों को पाकिस्तान में 2nd Class नागरिक के रूप में देखा जाने लगा।

यहां बंगाली संस्कृति के लोग रहते थे।

जबकि पाकिस्तान के extremist विचारधारा के लोग इन पर जबरदस्ती उर्दू थोपना चाहते थे।

पूर्वी पाकिस्तान के लोगों का कल्चर , पश्चिमी पाकिस्तान के लोगों से बिल्कुल अलग था।

यही कारण है कि हमेशा पूर्वी पाकिस्तान के लोग घृणा के पात्र बने रहते।

और पाकिस्तानी सैनिकों को अत्याचार इन बंगाली लोगों पर बढ़ता ही गया।

बंगाली औरतों, बच्चो को अगवा किया जाना आम बात था।

इसी से विद्रोह की ज्वाला भड़की, और बंग बंधु शेख मुजीब उर रहमान के नेतृत्व में स्वाधीनता आंदोलन की शुरुआत हुई।

और लंबे संघर्ष के बाद , भारतीय सैन्य मदद से पूर्वी पाकिस्तान की आजादी का मार्ग प्रशस्त हुआ।

इसी युद्ध में पाकिस्तान के 93000 से भी अधिक सैनिकों ने भारतीय रक्षाबलों के सामने आत्म समर्पण किया था।

भारत से 25 साल बाद मिली आजादी के बावजूद बांग्लादेश आज भारत को कई सेक्टर में टक्कर दे रहा है।

 

इसे भी पढ़ें:-मोबाइल से घर बैठे पैसे कैसे कमाए ?

 

Bangladesh GDP प्रति व्यक्ति आय

 
Bangladesh GDP  की प्रति व्यक्ति आय recently किए गए घोषणा के अनुसार 2227 डॉलर है।

बांग्लादेश ने काफी तेजी से तरक्की की है।

2007 का समय था जब बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति भारत की आधी थी।

लेकिन अब इन्होंने हमें ओवरटेक कर दिया है।
 

What is GDP per capita

 
ऐसे तो दुनिया भर में प्रति व्यक्ति आय निकालने के कई तरीके हैं।

लेकिन एक सबसे common सा तरीका है।

देश की कुल आय को देश की कुल जनसंख्या से भाग देकर जो उत्पाद निकल कर सामने आता है, वही होता है प्रति व्यक्ति आय यानी GDP PER CAPITA ।

दुनिया भर के देश इस तरीके से अपने रिसोर्स , अपनी आर्थिक समृद्धि की गणना करते हैं।

इसलिए प्रति व्यक्ति आय TERM का अर्थ व्यवस्था में बड़ा ही व्यापक महत्व है।
 

क्या बांग्लादेश SOUTH एशिया का किंग बन गया ?

 
WELL…
Bangladesh GDP ने बीते दशकों मे काफी तरक्की की है, कोई शक नहीं है।

लेकिन Social media पर अभी बहुत ही इस तरह की बातें फैल रही है।
जो निश्चित रूप से आधार हीन है।

दुनिया भर के देशों की अर्थ व्यवस्था और उसकी जनसंख्या पर यदि हम गौर करें।
तो हम पाते हैं कि जिस देश की जनसंख्या कम होती है, प्रति व्यक्ति आय अधिक होती है।

सामान्यतः देखा जाता है, अधिक जनसंख्या वाले देशों के लिए प्रति व्यक्ति आय को ऊपर ले जाना चुनौती भरा काम होता है।

अगर हम चीन को ही देखें तो उनकी प्रति व्यक्ति आय 8000$ ही है।

दुनिया भर के कई देश जिनकी प्रति व्यक्ति आय लाखों डॉलर में है, तो क्या हम ये मान लेंगे कि ECONOMIC एस्पेक्ट में जो INFLUENCE चीन का है वो उन छोटे देशों का भी हो जाएगा??

बिल्कुल नहीं !!

 

इसे भी पढ़ें:-Israel-Palestine Conflict

 

अब हम कुछ भारत के पड़ोसी देशों के प्रति व्यक्ति आय पर नजर डाल लेते हैं।

1) भारत – 1947$
2) बांग्लादेश -2227$
3) श्री लंका – 3830$
4) पाकिस्तान – 1543$
5) भूटान – 3280$

हम श्री लंका और भूटान की तरफ नजर डालें, ये दोनों देश तो भारत को दशक हो गए, हमें जीडीपी प्रति व्यक्ति व्यक्ति आय के मामले में Beat कर चुके हैं।

तो क्या हमें इससे worry हो जाना चाहिए ?

Bangladesh GDP की ओवर ऑल अचीवमेंट काफी अच्छी है बेशक !

#क्या रहा बांग्लादेश की सफलता का राज –

निश्चित रूप से बांग्लादेश ने काफी तरक्की की है, इसके कई वजह हैं।

©• सस्ते श्रमिक और अधिक काम :–

बांग्लादेश में श्रमिक काफी सस्ते मिल जाते हैं।

सस्ते श्रमिक के अतिरिक्त वहां श्रमिक 12 घंटे तक भी काम करते हैं।

120 रुपए के न्यूनतम मजदूरी पर भी श्रमिक 12-12 घंटे कार्य करते हैं।

मल्टीनेशनल कंपनियों के लिए ये एक आकर्षक ऑफर बांग्लादेश में रहता है।

यह एक बड़ा कारण रहा है कि बांग्लादेश निवेशकों के लिए एक अच्छा डेस्टिनेशन साबित हुआ है।

यदि भारत में ऐसा होगा तो फिर हमारे देश मे बहुत ज्यादा पॉलिटिक्स होने लगेगी, जगह जगह विरोध और प्रदर्शन होने लगेंगे।

फिर भारत के लिए मुश्किलें और बढ़ेंगी।

जब चीन शुरुआती विकास के दौर पर चल पड़ा था, तब उन्होंने भी अपने लेबर कानून को सख्त कर दिया था।

उन्हें पता था, कुछ दिनों की ही बात है। इसके बाद विदेशी कंपनियां आएगी तो हमारे नागरिकों की आर्थिक हालत निश्चित रूप से सुदृढ़ होंगी।

Memechat App – Make your Memes, and Earn money

 

TOP GDP PER CAPITA COUNTRY

 
1) Luxembourg – 122,740$

2) Singapore – 102,742$

3) Ireland – 99,239$

4) Quatar – 97,262$

5) Macau – 90,606$

6) Switzerland – 75,880

7) Norway – 69,171

8) US – 68,309

# GDP per capita दो तरीके से कैलकुलेट कर सकते हैं।

एक तो वो साधारण तरीका है जिसकी चर्चा हम पहले कर चुके हैं।

लेकिन PPP के टर्म में भी कैलकुलेट किया जाता है।

भारत पीपीपी यानी purchasing power parity में भारत बांग्लादेश से बहुत आगे है।

भारत की PPP- 6000$
BANGLADESH – 4000$

भारतीय आर्थिक सलाहकार सुब्रह्मण्यम स्वामी के अनुसार पीपीपी के टर्म मे प्रति व्यक्ति आय की गणना ही सर्व श्रेष्ठ है।

 

क्या भारत कर पाएगा BOUNCE BACK ?

 

लगातार लग रहे strict lockdown का असर हमारी अर्थव्यवस्था को बुरी तरफ प्रभावित कर रही है।

बांग्लादेश और भारत के लॉकडाउन के तरीके मे बड़ा अंतर है।

बांग्लादेश में लॉकडॉउन सीमित रहा है।

और covid का व्यापक असर भारत पर पड़ा है।

यही वजह है कि आर्थिक रफ्तार धीमी रही।

IMF और World Bank के अनुसार अभी तक भारत की ग्रोथ रेट डबल डिजिट मे चल रही होती।

कोरोना वायरस के pandemic से उबरने के बाद भारत जरूर बाउंस बैक करेगा।

सरकार को क्या करना चाहिए?

या फिर क्या कर सकती है?

सरकार आर्थिक सलाहकारों की मदद से Labour reforms/ economic reforms ला सकती है।

 

आपको Bangladesh GDP लेख कैसा लगा ये कमेंट के माध्यम से जरूर बताइएगा।

ऐसे ही अच्छे लेखों का नियमित अपडेट पाने के लिए हमारे Facebook page moneysarthi को लाइक करना न भूलें।

आप हमारे whatsapp ya telegram group को भी ज्वॉइन कर सकते हैं।

 

जय हिन्द

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *