5 RULES OF RICH PEOPLE From SECRETS OF MILLIONAIRE MIND BOOK

5 RULES OF RICH PEOPLE From SECRETS OF MILLIONAIRE MIND BOOK – मेरा नाम सौरभ है और आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ चुनिंदा 5 रहस्य जो ये बताते हैं कि हम अपनी लाइफ में तरक्की पाएंगे या नहीं।

अगर कोई आपसे कहे कि अगले साल से आपकी कमाई 1 करोड़ रुपये सालाना होने वाली है और आप 100 करोड़ की संपत्ति के मालिक हो जायेंगे। तो फ़र्ज़ कीजिये कि आपके दिमाग में कैसे कैसे ख्याल आएंगे ??

 

यार मैं इतने पैसों का करूँगा क्या ?

इतने पैसे दुश्मनी पैदा करते हैं।

इतना काम कर करके तो मेरी सेहत ही ख़राब हो जाएगी।

यार इतना पैसा चाहिए ही किसको है ?

इतने पैसे तो सिर्फ गलत काम करके ही कमाए जा सकते हैं।

मेरे पास बाकि कामों के लिए टाइम ही नहीं बचेगा।

यार अभी तो मैं बहुत छोटा हूँ।

 

अगर आपके मन में भी ऐसे ही ख्याल आते हैं तो आप भविष्य में कभी अमीर हो ही नहीं सकते क्योंकि पैसों को लेकर आपका ब्लूप्रिंट बहुत छोटा है या कहें कि है ही नहीं।

प्रकृति का नियम है कि हम जिस चीज़ को पाना चाहते हैं वो हमें मिलकर ही रहती है मगर जो चीज़ आपको चाहिए ही नहीं वह क्यों आपको मिलेगी ? ऐसा इसलिए है क्योंकि पैसों को लेकर आपकी सोच बहुत छोटी है।

मान लीजिये आपने अपने कमरे में AC लगा रखा है जिसका टेम्प्रेचर 23 डिग्री सेल्सियस पर फिक्स है। गर्मी थोड़ी बढ़ जाती है और कमरे का तापमान 27 डिग्री सेल्सियस हो जाता है, फिर क्या होगा ? AC थोड़े समय में तापमान को 23 तक ले आएगा।

मान लो तापमान 17 डिग्री सेल्सियस हो जाये तब ? फिर से AC उसे 23 पर ही ले आएगा। यानी जैसा सेट कर दिया है धीरे से होगा वही। ठीक ऐसा ही हमारी पैसों को लेकर ब्लू प्रिंट में होता है। हमें जितना चाहिए उतना ही मिलता है। कम या ज़्यादा ये हमारी डिमांड पर निर्भर करता है।

डोनाल्ड ट्रम्प एक बार बिलियन डॉलर्स के कर्ज में फंस गए थे मगर अपनी पैसे को लेकर ब्लू प्रिंट के कारण पहले से ज़्यादा अमीर होकर लौटे। ऐसा वो सिर्फ इसलिए कर पाए क्योंकि उनके दिमाग में एक अमीर इंसान का ब्लू प्रिंट है जबकि दूसरी तरफ माइक टायसन ने भी करोड़ों डॉलर्स कमाए मगर उनके पास आज खाने के लाले हैं। क्योंकि उन्होंने अपने दिमाग में पैसे को लेकर जो ब्लू प्रिंट है उसे कभी चेंज ही नहीं किया और सारे पैसे उड़ा दिए।

आज हम यहाँ पर बात करेंगे चुनिंदा 5 ऐसे ब्लू प्रिंट्स के बारे में जो हमें ये बताएँगे कि हम भविष्य में कभी अमीर होंगे भी या नहीं।

डॉ टी हार्व एकर एक जाने माने बिजनेस कोच और ‘The Secrets of the Milliner Mind” बुक के लेखक हैं। RULES OF RICH PEOPLE आज हम उनकी इस बुक से लिए गए कुछ 5 ब्लू प्रिंट्स के बारे में बात करेंगे।

 

इसे भी पढ़े:-Strong Mindset वाले लोगों की 7 पहचान

5 RULES OF RICH PEOPLE

 

1 – Rich People think Both while poor people think either/or

लेखक कहते हैं कि जो गरीब मानसिकता वाले लोग होते हैं उनका पैसों को लेकर ब्लू प्रिंट कुछ इस तरह का होता है –

पैसा या फैमिली को टाइम
पैसा या सेहत
पैसा या ट्रेवल
पैसा या अच्छा इंसान
पैसा या धार्मिक

यहाँ पर गरीब मानसिकता वाला इंसान हमेशा विकल्प खोजता दिखता है जबकि उसकी जगह अमीर मानसिकता वाला इंसान क्या बोलेगा ?

“वो कहेगा कि उसे दोनों चाहिए”

अमीर ब्लू प्रिंट वाला इंसान कोई न कोई रास्ता खोज ही निकलता है जिससे उसकी सारी इच्छाएं भी और वो पैसे भी कमाय। वो कभी भी विकल्प नहीं खोजता।

उदाहरण के लिए लेखक एक कहानी शेयर कर रहे हैं कि एक बार उन्हें अमेरिका के एरिजोना राज्य में एक प्लाट पसंद आ गया मगर उसका मालिक उसे 10 लाख डॉलर से कम में बेचने को राज़ी नहीं था। लेखक के पास इतने पैसे नहीं थे मगर उन्हें उसके जैसी लोकेशन पसंद आ चुकी थी।

उन्हेआने हार नहीं मानी और दूसरे ब्रोकर्स से संपर्क किया। पास में ही हूबहू लोकेशन पर उन्हें वो प्लाट मिल गया वो भी 2 लाख डॉलर की कम कीमत पर। उनकी जगह आम आदमी या तो कीमत बढाकर देना तय कर लेता या फिर उसे खरीदने का विचार ही छोड़ देता।

इसे भी पढ़े :दिमाग तेज करने का नियम ( Dimag Tej Karne Ke Niyam )

 

2 – अमीर People think Big, Poor people think small

पैसों को लेकर आपका सुरक्षात्मक व्यवहार दर्शाता है कि आप भविष्य में अमीर होंगे या गरीब। आपके शब्द ही हकीकत बनते हैं। जो लोग अपनी पूरी ज़िंदगी सुरक्षित खेलकर गुजार देने में ही संतुष्ट रहते हैं उन्हें लाइफ में सिर्फ मतलब भर का ही मिलता है।

गरीब लोग ये चाहते हैं कि कम से कम में कैसे समय निकाल दिया जाये। जब वे स्टूडेंट होते हैं तो बस पास होने भर के नंबर के लिए पढाई करते हैं, जब कॉलेज में जाते हैं तो सोचते हैं कि बस एक जॉब मिल जाये, जब शादी हो जाती है तो सोचते हैं कि बस बिल पेमेंट करने भर के पैसे हो जाएं, रिटायर होने पर सोचते हैं कि बस गुज़ारे लायक पेंशन मिल जाए।

आसान शब्दों में गरीब मानसिकता वाले लोग असहज होना ही नहीं चाहते, वे सुरक्षित खेलना चाहते हैं इसलिए उन्हें उतना ही मिलता है जितने की उन्हें ज़रूरत होती है। क्योंकि उससे ज़्यादा के लिए उन्हें अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ेगी। इन लोगों की सोच का लॉजिक ही अलग होता है

जैसे “मैं एक्सरसाइज तब करूँगा जब मोटा हो जाऊंगा।” जब ये लोग ऐसी बातें कर रहे होते हैं उसी वक़्त कहीं कोई अतिरिक्त एक्शन लेकर पेट्रोल पंप से उठकर अम्बानी बन जाता है, मछुआरे का बेटा कलाम बन जाता है, एक मध्यम वर्गीय परिवार का बेटा सुन्दर पिचाई बन जाता है।

इसे भी पढ़े:-Intelligent लोगों की आदतें

 

3 – Rich People focus on opportunity, poor people focus on obstacles

गरीब लोगों की सबसे बड़ी गलती होती है कि वे दूसरों की तरक्की से जलते हैं, कभी उनकी मेहनत को तवज्जो नहीं देते। अक्सर ऐसे कहते मिल जायेंगे –

कितना लकी है ये बंदा
बड़े बाप की बिगड़ी हुई औलाद

लेखक कहते हैं कि हर इंसान अपनी लाइफ का रचनाकार है। हमारी लाइफ के रूल हम ही तय करते हैं। अपनी लिमिट, अपनी आदतें, अपनी लाइफ का हर एक छोटा बड़ा फैसला जब हम खुद ही करते हैं तो हम इस गेम को हार कैसे सकते हैं ? ये हमारी कहानी है, हमारा पेन है और हमारी बुक है जिसे हम लिख रहे हैं तो क्यों ना एक बेहतर ज़िंदगी लिखी जाये।

 

4 -अमीर people are bigger than their problem, poor people are smaller than their problem

अमीर लोग अपनी परेशानियों से बड़े होते हैं। यहाँ पर बड़े होने से मतलब अनुभव से है। जहाँ कोई गरीब मानसिकता वाला इंसान किसी बिजनेस को शुरू भी करता है तो ज़रा से परेशानी आते ही हार मान लेता है।

जबकि अमीर मानसिकता वाला व्यक्ति जानबूझकर एक्शन लेता है और तरह तरह की परेशानियों से दो चार होता है। जिससे होता ये है कि दोबारा जब लाइफ में वैसी परेशानियां आती हैं तो अमीर व्यक्ति जानता है कि वो बहुत छोटी सी परेशानी है जिसे वो चुटकियों में हल कर देगा।

यहाँ पर रिस्क उठाने का जज़्बा ही हमारी लाइफ को बदल देता है। जो लोग सुरक्षित खेलते हैं वो बस गुज़ारा करते हैं और जो रिस्क उठाते हैं उन्हें आसमान मिलता है। जो लोग ट्रैकिंग के शौक़ीन होते हैं उन्हें कुदरत के भरपूर नज़ारों का आनंद मिलता है जबकि गाड़ियों पर बैठकर घूमने वाले तो बस एक सफर जोड़ लेते हैं अपनी लिस्ट में।

इसे भी पढ़े:-इंसान कभी विकसित हुआ ही नहीं

 

5 – Rich people constantly learn & grow. Poor people think they already know everything

औसतन 27 साल का होते होते एक आम भारतीय की क्षमता दम तोड़ने लगती है। वजह है कि वे सोचने लगते हैं कि उन्हें सब पता है क्योंकि उन्होंने इस उम्र तक आते आते लगभग सारी तरह की कक्षाएं पास कर ली हुई होती हैं।

ऐसे में जब कोई नया विषय उनके सामने आता है तो वे घमंडी हो जाते हैं कि उन्हें सब कुछ आता है। जबकि एक अमीर मानसिकता वाला व्यक्ति अपनी पूरी ज़िंदगी नई नई चीज़ें सीखने में लगा रहता है। वो खुद को लगातार ऊपर उठता रहता है।

खुद को पहले से बेहतर करता रहता है। उसकी प्रतिस्पर्धा खुद से होती है। आचार्य विवेकानंद जी ने भी कहा था कि यदि आज भी आपका कोई व्यक्ति पढ़ या कुछ सीख रहा है तो समझ लेना एक दिन वो आपसे आगे ज़रुर जायेगा।

 

इसे भी पढ़े:-How To Achieve Success After Failures in Hindi

 

तो दोस्तों ये रही कुछ 5 RULES OF RICH PEOPLE From SECRETS OF MILLIONAIRE MIND BOOK । अपना स्कोर RULES OF RICH PEOPLE ज़रूर चेक कर लें की इनमे से आपमें कुल कितनी ख़ास बाते हैं।

धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *